भारत-पाकिस्तान क्रिकेट पर पाकिस्तानी मंत्री के विवादित बोल, जानिए क्या कहा

सात साल से भी ज्यादा (6 जनवरी, 2013) का वक्त बीत चुका है जब भारत और पाकिस्तान के मध्य कोई श्रृंखला खेली गई हो। पाकिस्तान की आतंकवादी गतिविधियों को गति देने और आतंकवाद को पनाह देने के कारण भारत ने पड़ोसी मुल्क से क्रिकेट मैदान में दूरी बना ली है। लेकिन उनके मंत्रियों के दिल और दिमाग में अभी भी कई गलतफहमियां हैं। उन्हें लगता है भारत-पाकिस्तान से मैच खेलने को आतुर है लेकिन पाकिस्तान ही उनसे खेलना नहीं चाहता है। इस बीच पाकिस्ताम की मंत्रि फिरदौस आशिक अवान ने क्रिकेट को लेकर अजीब सा बयान दे दिया है, अब पूरी दुनिया में उनका मजाक बन रहा है।
कश्मीर की आजादी के बाद हो भारत से पाकिस्तान का मैच
इमरान खान सरकार में मंत्री डॉक्टर फिरदौस आशिक अवान ने कहा है कि पाकिस्तान की टीम तब तक भारत से क्रिकेट नहीं खेलेगी जब तक वो कश्मीर को आजाद नहीं कर देता। फिरदौस ने ये भी कहा कि भारत के साथ इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना गलत है। पाकिस्तानी अखबार द ट्रिब्यून से बातचीत करते हुए फिरदौस ने कहा, भारत ने पाकिस्तान में इंटरनेशनल क्रिकेट रोकने के लिए कई झूठी साजिश रची हैं। जबतक भारत कश्मीरी लोगों को आजाद नहीं कर देता, तब तक भारत-पाकिस्तान का मैच कश्मीरियों के जख्मों पर नमक रगड़ेगा।
पाकिस्तान में न खेलने की भारत की अलग है वजह
बतादें कि अभी हाल ही पाकिस्तान में क्रिकेट दोबारा से शुरु हुआ है। श्रीलंका और बांग्लादेश की टीम सीरिज खेलकर वापस हुई हैं। दोनों ही टीमों ने पाकिस्तान को सुरक्षित मुल्क बताया है। हालांकि भारत का पाकिस्तान के साथ न खेलने की अलग वजह है। आतंकवाद और अवैध घुसपैठ को लेकर दोनों देशों में गंभीर टकराहट की स्थिति है। इस साल एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान को मिली है लेकिन भारत चाहता है कि एशिया कप पाकिस्तान के बजाय किसी अन्य मुल्क में हो। बीसीसीआई चाहती है कि टूर्नामेंट का आयोजन दुबई या अबूधाबी में हो, नहीं तो उनकी टीम एशिया कप में हिस्सा नहीं लेगी।
तब पाकिस्तान की वजह से दुबई में हुआ था एशिया कप
बीते एशिया कप की मेजबानी भारत को मिली थी लेकिन पाकिस्तानी खिलाड़ियों को वीजा की समस्या के चलते ये मुकाबला दुबई में हुआ था। अब बीसीसीआई भी यही चाहती है कि एशिया कप का अयोजन पाकिस्तान की बजाए किसा इन्य मुल्क में किया जाए।