वृंदावन में बोले सीएम योगीः गंगा को निर्मल कर दिया अब यमुना को स्नान ही नहीं आचमन योग्य भी बनाएंगे

वृंदावन में प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम योगी ने कहा, अगर मां गंगा को उनका गौरव दिया जा सकता है, उन्हें निर्मल और स्वच्छ बनाया जा सकता है तो यमुना को भी स्वच्छ और निर्मल बनाया जा सकता है। इशारों में उन्होंने दिल्ली के सीएम केजरीवाल को निशाने पर लिया। उन्होंने कतहा अपने क्षेत्र की यमुना साफ करे दिल्ली सरकार आगे की जिम्मेदारी हमारी है। सीएम योगी ने कहा हम यमुना को न केवल स्नान योग्य बल्कि उसके जल को आचमन के योग्य भी बनाएंगे।
सीएम योगी भगवान श्रीराधाकृष्ण की लीला भूमि वृंदावन में श्री बांकेबिहारी के दर्शन और यमुना की आरती की। इसी के साथ उन्होंने यहां कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक में 411 करोड़ की योजनाएं जनपद को समर्पित किया।

वृंदावन में कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक का ध्वजारोहण करने पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, नमामि गंगे कार्यक्रम के साथ कानपुर में गंगा में सीवेज के पानी की एक बूंद भी नहीं डाली जाती है। कानपुर गंगा के लिए महत्वपूर्ण बिंदु है। इसी तरह दिल्ली यमुना नदी के लिए है। उन्होंने कहा कि यदि कानपुर में गंगा की सफाई हो सकती है तो दिल्ली में यमुना की भी सफाई की जानी चाहिए।
वृंदावन में कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक में आए सीएम योगी ने कहा, वैष्णव बैठक अब वृंदावन कुंभ के नाम से विख्यात हो चुका है। यह हमारा सौभाग्य है कि इस आयोजन के माध्यम से सेवा का अवसर मिला है। उन्होंने कहा अब ब्रज को नई पहचान देना है। दुनिया के सामने ब्रज का आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहर को रखना है।

उन्होंने कहा, गो सेवा ब्रज की पहचान होना चाहिए। गोवंश भगवान कृष्ण की लीलाओं की स्मृतियों को जीवंत करती है। यहां तो यमुना भी निर्मला होना चाहिए। उन्होंने कहा, आस्था की दृष्टि से ब्रज से ज्यादा पवित्र कोई जमीन नहीं है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा हम आभारी हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के, जिनके नेतृत्व में कोरोना महामारी की लड़ाई को हमने जीत लिया है। प्रयागराज कुंभ को दुनिया में एक बड़ी घटना के रूप में देखा जाता था, इसे एक विशिष्ट आयोजन के रूप में नहीं माना। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि पुरानी परंपराओं को छोड़ दो, नए सिरे से कुछ मानक तय होने चाहिए।

यही कारण है कि हमारी टीम ने नए मानक बनाए और कुंभ ने सुव्यवस्था, स्वच्छता और सुरक्षा का ऐसा मानक तक किया कि यूनोस्को को भी कहना पड़ा कि प्रयागराज कुंभ मानवता की जीवंत सांस्कृतिक धरोहर है। ब्रज का तो कहना ही क्या, ब्रज की तो पांच हजार वर्ष पुरानी समृद्ध परंपरा है। ऐसी सांस्कृतिक विरासत तो किसी के पास नहीं है।
अपनी वृंदावन दौरे के दौरान सीएम योगी ने वृंदावन में सभा सांस्कृतिक आयोजनों में हिस्सा लिया। यमुना आरती की, बांके बिहारी जी का दर्शन किया। इस दौरान उन्होंने वहां के साधु संतों का सत्कार करना नहीं भुले। उन्होंने वहां पर साधु संतों को अपने हाथों से भोजन परोसा और आशीर्वाद लिया।