अरुणाचल में विधायकों के भाजपा में शामिल होने पर सीएम नीतीश ने भाजपा पर साधा निशाना, दिया बड़ा बयान

अरुणाचल प्रदेश में जनता दल यूनाइटेड के 6 विधायकों को भाजपा में शामिल होने को लेकर बिहार से सीएम नीतीश कुमार खासे नाराजा हैं। उन्होंने पटना में आयोजित पार्टी कार्यकारीणी की बैठक को संबोधित करते हुए अपनी नाराजगी जाहिर की है। उन्होने कहा, अरुणाचल में पार्टी के 7 में से 6 विधायकों को पार्टी में शामिल कर भाजपा ने ठीक काम नहीं किया है। उन्होंने कहा बिहार में गठबंधन की जीत के साथ ही हमने कह दिया था कि हमे सीएम पद नहीं चाहिए। भाजपा के ही विधायकों में से किसी को सीएम चुन लिया जाए, लेकिन मुझ पर दबाव डालकर सीएम पद पर बैठाया गया।
नीतीश कुमार ने कहा, “मेरी जरा भी इच्छा नहीं थी मुख्यमंत्री बनने की। मुझ पर दबाव डाला गया था तब मैंने मुख्यमंत्री पद का पदभार ग्रहण किया। कोई भी मुख्यमंत्री बने, किसी का भी मुख्यमंत्री बना दिया जाए, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है।”
नए पार्टी अध्यक्ष के ऐलान पर नीतीश कुमार ने कहा कि सोच समझकर और जानबूझकर आरसीपी सिंह को अध्यक्ष बनाया। हम ज्यादा से ज्यादा काम कर सकें, इसके लिए अध्यक्ष बनाया। अब पूरे तौर पर आरसीपी सिंह अध्यक्ष पद का काम देखेंगे।
अरुणाचल प्रदेश में छह विधायकों को भाजपा में शामिल होने पर पार्टी के नए अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने भी भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, जनता दल यूनाइटेड कभी धोखा नहीं देती और न ही किसी के खिलाफ साजिश रचती है। हम जिनके साथ रहते हैं पूरी इमानदारी के साथ रहते हैं।
वहीं, अरुणाचल प्रदेश के मुद्दे पर जनता दल यूनाइटेड के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने भी बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। आरसीपी सिंह ने बीजेपी पर हमला करते हुए कह दिया कि जनता दल यूनाइटेड कभी किसी को धोखा नहीं देती ना ही किसी के खिलाफ साजिश रचती है। आरसीपी सिंह ने कहा “हम किसी को धोखा नहीं देते, साजिश नहीं रचते। हम जिनके साथ रहते हैं पूरी ईमानदारी के साथ रहते हैं।”
कार्यकारीणी को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने लव जिहाद के मुद्दे पर भाजपा को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा भाजपा द्वारा देश में एक अलग तरह की राजनीति की जा रही है। लोगों में घृणा की भावना जगाकर वोट बैंक हासिल करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा लव जिहाद इसी का एक उदाहरण है।