मुख्य सचिव ने माघ मेले की तैयारियों का लिया जायजा, दिए ये निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने माघ मेला 2020-21 की तैयारियों का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने माघ मेले की तैयारियों को पुख्ता करने के अधिकारियों को निर्देश जारी किए। मुख्य सचिन वे कहा, माघ मेला में आने वाले सभी कल्पवासियों की कोविड प्रोटोकॉल के अन्तर्गत आरटीपीसीआर जांच अवश्य करायी जाए। उन्होंने कहा, माघ मेला में प्रतिदिन आने वाले श्रद्धालुओं की भी एन्टीजन जांच अथवा थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए।
मुख्य सचिव ने कहा, माघ मेला क्षेत्र में सैनेटाइजेशन के कार्य नियमित रूप से कराए जाएं एवं मेला में पर्याप्त चिकित्सकीय सुविधाएं एवं एम्बुलेन्स आदि की भी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाए। किसी भी श्रद्धालु के कोविड पॉजिटिव पाये जाने पर उसे तत्काल कोविड समर्पित एम्बुलेन्स के माध्यम से चिकित्सालय ले जाया जाए।
समीक्षा बैठक के दौरान प्रयागराज के जिलाधिकारी ने मुख्य सचिव को माघ मेले में श्रद्धालुओं की सुविधाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया माघ मेले के लिए 1 हजार जन शौचालय, 9 हजार संस्थागत शौचालय, 3 हजार कनात जन शौचालय, 1 हजार विभागीय शौचालय, 300 मूत्रालय, 20 बेड के 02 अस्थायी चिकित्सालय, 180 गैंग सफाईकर्मी की व्यवस्था कराई जा रही है।
मुख्य सचिव ने कहा कि माघ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रभावशाली भीड़ नियंत्रण योजना अवश्य बना ली जाए। उन्होंने कहा कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर एवं सुगम यातायात की व्यवस्था उपलब्ध करायी जाए। उन्होंने कहा कि स्वच्छ पेयजल एवं स्वच्छ शौचालय की भी उचित व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए।
मेले में श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु लाउडस्पीकर के माध्यम से समस्त सुविधाओं की जानकारी प्रदान की जाए। उन्होंने सूचना विभाग को निर्देश दिये कि मेले में साइनेज के माध्यम से श्रद्धालुओं को मार्ग से सम्बन्धित एवं अन्य जानकारियां उपलब्ध कराई जाएं तथा विभाग द्वारा लगायी जाने वाली प्रदर्शनी की उचित व्यवस्था 5 जनवरी तक पूर्ण कराई जाए।