सीमा विवाद- अमित शाह की कांग्रेस को खुली चुनौती, 1962 से आज तक हो जाए दो-दो हाथ

Last Updated : by

23 Views
पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में बीते 15 जून की रात को भारत और चीन के सैनिकों की हिंसक झड़प के बाद भारत की सियासत गर्म हो गई। समूचा विपक्ष सरकार से वहां की वास्तविक स्थिति को लेकर सवाल खड़ा कर रहा है। इस बीच पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक कर स्थिति से विपक्ष को अवगत कराया। उन्होंने इसके बाद अपने संबोधन में कहा था कि लद्दाख सीमा पूरी तरह सुरक्षित है, भारतीय जमीन पर किसी का कोई कब्जा नहीं है। इसके बावजूद कांग्रेस व अन्य पार्टियां केन्द्र पर लगातार हमलावर हैं। अब गृहमंत्री अमित शाह ने मोर्चा संभालते हुए कांग्रेस को करारा जवाब दिया है।
भारत दोनों युद्ध जीतने जा रहा है-अमित शाह
अमित शाह ने 20 भारतीय सैनिकों की शहादत पर कांग्रेस के सभी आरोपों को जवाब देते हुए कहा है कि मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत दोनों युद्ध जीतने जा रहा है। अमित शाह ने कहा कि भारत कोरोना की जंग के साथ ही पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बढ़े तनाव की जंग जल्द जीतेगा।
हम हर विषय पर चर्चा के लिए तैयार हैं
न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, हम हर विषय पर संसद में चर्चा करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि संसद चलने वाली है और अगर किसी को सीमा विवाद पर चर्चा करना है तो आइए, हम चर्चा करेंगे। 1962 से आज तक दो दो हाथ हो जाए।
कांग्रेस नेताओं के बयान से पाक को मिलती है खुशी
उन्होंने कहा कि कोई भी चर्चा से नहीं डरता है। लेकिन जब देश के जवान संघर्ष कर रहे हैं। सरकार स्टैंड लेकर कोई ठोस कदम उठा रही है, उस वक्त ऐसा कोई भी बयान नहीं देना चाहिए जिससे पाकिस्तान और चीन को खुशी मिले।
मै राहुल को सलाह नहीं दे सकता, कुछ लोग ‘वक्रदृष्टा’ हैं
अमित शाह ने कहा सरकार कोरोना के खिलाफ अच्छी लड़ाई लड़ रही है। मैं राहुल गांधी को किसी भी तरह की कोई सलाह नहीं दे सकता है। राहुल गांधी को सलाह देने का काम उनकी पार्टी का है। कुछ लोग ‘वक्रद्रष्टा’ हैं। वे सही चीजों को भी गलत देखते हैं।
राहुल गांधी कर रहे हैं ओछी राजनीति
अमित शाह ने कहा कि केंद्र सरकार भारत विरोधी प्रोपगेंडा से लड़ने में सक्षम है लेकिन यह देखकर काफी दुख होता है कि इतनी बड़ी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष ऐसी ओछी राजनीति करते हैं। अमित शाह ने सरेंडर मोदी वाले ट्वीट का जिक्र करते हुए कहा, कांग्रेस और राहुल गांधी को खुद इस बारे में सोचने की जरूरत है।
राहुल की बातें चीन-पाक को बढ़ावा देती है
भारत में राहुल गांधी की ओर से की जा रही बात को पाकिस्तान और चीन के लोग हैशटैग बनाकर इस्तेमाल कर रहे हैं। कांग्रेस पार्टी को इस बारे में भी सोचना चाहिए कि उनकी पार्टी के नेता का बयान चीन और पाकिस्तान को बढ़ावा देता है। वो भी ऐसे समय में जब संकट का वक्त हो।