बहराइच: हाथियों ने रौंद डाली कई बीघा फसलें

बहराइच– नेपाली हाथियों के झुंड ने ककरहा तथा मोतीपुर रेंज के निकट गांवों में धान व गन्ने की 70 बीघा फसल को रौंद दिया। सुबह खेत पहुंचे ग्रामीणों को जानकारी हुई। इस पर सभी ने रेंज कार्यालय पर सूचना दी। वनकर्मियों ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया है। जिसके बाद मुआवजे के लिए पत्र उच्चाधिकारियों को भेजा गया। वहीं हाथियों के परिक्षेत्र बदलने से ग्रामीण दहशत में हैं।


कतर्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र में नेपाली हाथियों द्वारा फसलों को नुकसान पहुंचाने का क्रम जारी है। नेपाली हाथी पहले निशानगाड़ा तथा कतर्नियाघाट रेंज के निकट बसे गांवों में मकान व फसलों को नुकसान पहुंचा रहे थे। लेकिन अब हाथियों ने क्षेत्र बदल दिया है। हाथियों ने शनिवार रात मोतीपुर तथा ककरहा रेंज के निकट बसे ग्रामीणों के खेत में फसलों को नुकसान पहुंचा दिया है।

ककरहा रेंज के सिंगहिया गांव में अलका मिश्रा, प्रीती मिश्रा, फूलमती, जयबहादुर, नसीम, वसीम, मुशीर, नाजमा, पाठकपुरवा निवासी सोनपती, परसीपुरवा निवासी जंगबहादुर, ललती देवी की  40 बीघा धान व गेहूं की फसल को तहस-नहस कर दिया। सुबह खेत पहुंचे ग्रामीणों को हाथियों के हमले में फसलों के तबाह होने की जानकारी हुई। सभी ने रेंज कार्यालय पर सूचना दी। वन वन क्षेत्राधिकारी महेंद्र कुमार मौर्या ने बताया कि वन रक्षक सुनील कुमार जायसवाल को मौके पर भेजकर निरीक्षण कराया गया है।

जल्द ही पीड़ितों को मुआवजा प्रदान किया जाएगा। उधर मोतीपुर रेंज के खड़िया गांव में नैनिहा निवासी जितेंद्र सिंह पुत्र रेशम सिंह, अमृतपाल सिंह, बसंतलाल की 20 बीघा गन्ने की फसल को हाथियों के झुंड ने रौंद दिया। ग्रामीणों के मुताबिक पांच से छहहाथियों के झुंड फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। यहां पर डिप्टी रेंजर सत्रोहनलाल ने घटनास्थल का निरीक्षण किया है।