अमित शाह बोले- असम से कांग्रेस और बदरुद्दीन के वोट बैंक घुसपैठियों की इंट्री होगी बंद

असम में अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव को लेकर राज्य में सियासी पारा चढ़ा हुआ है। विधान चुनावों से पहले भाजपा नेता और गृहमंत्री अमित शाह असम दौरे पर हैं। रविवार को असम के नलबाड़ी में उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस और विपक्ष पर हमला बोला। उन्होंने घुसपैठ की राजनीति करने वालों पर करारा प्रहार किया। उन्होने कहा असम में कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमद ने वोटबैंक के चक्कर में घुपैठियों के लिए सारे दरवाजे खोल दिए हैं। उन्होंने कहा भाजपा के सत्ता में आते ही इन घुसपैठियों की इंट्री बंद हो जाएगी। उन्होंने कहा ऐसा केवल भाजपा ही कर सकती है।
अपने संबोधन के दौरान अमित शाह ने कांग्रेस और विपक्ष से सवाल किया। उन्होंने पूछा आपने असम की संस्कृति के लिए क्या किया? आपने वोट बटोरने और गरीबों के हक पर डाका डालने के शिवा कुछ नहीं किया।
अमित शाह ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा, कांग्रेस ने भाजपा पर सांप्रदायिक होने का आरोप लगाती रही है। लेकिन कांग्रेस अपने चरित्र के मुताबिक केरल में मुस्लिम लीग के साथ और असम में बदरुद्दीन अजमल के साथ गठबंधन करती है, कांग्रेस असम को किस दिशा में ले जाएगी आप अंदाजा लगाइए।
अमित शाह ने कहा कांग्रेस अंग्रेजों की नीति पर चलती है। फूट डालो और राज करो। कभी असमी-गैरअसमी, अभी आदिवासी-गैर आदिवासी, कभी बोडो-गैरबोडो। यहां लोगों को लड़ाते-लड़ाते वर्षों तक असम को रक्त रंजित किया। 10 हजार से ज्यादा युवाओं का खून बहाया गया।
अमित शाह ने कहा, कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल की यहां वर्षों से सरकार रही। उन्होंने असम के लिए क्या किया? 13वें वित्त आयोग में राज्य को सिर्फ79 हजार करोड़ रुपए दिए। 14वें वित्त आयोग में भाजपा सरकार ने 1.55 लाख करोड़ रुपए असम दो दिए हैं और अब असम में विकास हो रहा है।
नलबाड़ी से पहले अमित शाह कोकराझार मे बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल की बैठक में हिस्सा लिया। बैठक के बाद कोकराझार में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा इस ऐतिहासिक रैली में पूरे देश से कहना चाहता हूं कि मेरे जीवन की सबसे महत्वपूर्ण रैलियों में से एक है। इसे संबोधित कर मेरे मन को अपार शांति मिल रही है।