अखिलेश यादव का योगी सरकार पर बड़ा हमलाः प्रदेश भाजपा संरक्षित अपराधियों के हवाले

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था के मुद्दे को लेकर प्रदेश की योगी सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा सरकार के प्रदेश को अपराध मुक्त करने के सारे दावे ध्वस्त हो चुके हैं। अखिलेश ने कहा, प्रदेश में खुलेआम सत्ता संरक्षित अपराधी घूम रहे हैं। अब तो स्थिति ये है कि अपराध रोकने के लिए जिम्मेदार पुलिस वालों को भी अपनी जान के लाले पड़ गए हैं।
अखिलेश ने कहा, योगी सरकार में व्यापारी से लेकर आम जनता में अंदर भय का भाव घर कर गया है। उन्होंने हाल ही में हुई घटना का जिक्र करते हुए कहा, प्रयागराज में एक फौजी की हत्या, ग्रेटर नोएडा में बच्चे का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गई, औरैया में एक सर्राफा व्यापारी को गोली मार दी गई।
अखिलेश यादव ने कहा, योगी सरकार ने कहा था प्रदेश में संगठित अपराध को खत्म कर दिया गया है, लेकिन सच्चाई ये ही कि भाजपा के ही संरक्षित अपराधी संगठित हो कर अपराध को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस के हाथ बांध दिए गए हैं जिससे अपराधी बेखौफ हो चुके हैं।
उन्होंने सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा, प्रदेश की भाजपा सरकार के पास अपराध रोकने की इच्छाशक्ति खत्म हो गई है और सरकार प्रदेश मे अपराध रोकने में नाकाम साबित हो रही है।
अखिलेश यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्था छवि को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि सीएम योगी को प्रदेश की जनता को शांत और भयमुक्त बनाने के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए।
उन्होंने कहा सीएम योगी को अराजकता और अपराध में लिप्त दोषियों पर कड़ाई से कार्रवाई करनी चाहिए, उन्हें कानून व्यवस्था को प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा भाजपा सरकार का एजेंडा तो समाज का सद्भाव बिगाड़ना है तो कानून का राज कैसे स्थापित हो सकता है।
अखिलेश ने कहा, प्रदेश की जनता को अपराध मुक्त करने का झूठा सपना दिखाकर सत्ता हथियाने वाली भाजपा सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। भाजपा सरकार की कार्यशैली से ऊब चुकी जनता अब सत्ता परिवर्तन चाहती है। जनता को बस एक मौके की तलाश है।