अखिलेश यादव ने कहा, यूपी में अपराधियों का तांडव, सीएम खामोश और घुटनों पर पुलिस

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार को निशाने पर लिया है। प्रदेश में बढ़ रहे आपराधिक घटनाओं पर उन्होंने कहा, सीएम योगी राम नाम सत्य कर रहे हैं और अपराधी तांडव मचा रहे हैं। उन्होंने कहा यूपी पुलिस अपराधियों के सामने घुटने टेक दिए हैं। यूपी में हत्या, अपहरण और लूट का वारदात तेजी से बढ़ रही है। उन्होंने कहा, भाजपा राज में भयमुक्त माहौल बन गया है और प्रदेश अपराध प्रदेश के रूप में तब्दील हो गया है।
सपा प्रमुख ने कहा, सीएम के अपने क्षेत्र गोरखपुर में हर तीसरे दिन हत्या की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। गोरखपुर में अपराध का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है लेकिन सरकार खामोश है। उन्होंने कहा बीते 20 दिनों में हत्या, चोरी, छेड़खानी और किशोरियों के अपहरण की घटनाएं ध्वस्त कानून व्यवस्था की नजीर हैं।
सपा प्रमुख ने कहा, जहां से पूरे प्रदेश की गतिविधियों पर सरकार नजर रखती है वहीं पर अपराध का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा, बख्शी का तालाब क्षेत्र की ग्राम पंचायत शिवपुरी में रण बाबा महादेव मंदिर के पुजारी फकीरे दास की लूट के बाद हत्या कर दी गई। पिछले दिनों लखनऊ में सिलसिलेवार तीन वारदात में बमबाजी से दहशत हुई। जानकीपुरम, हसनगंज और मड़ियांव में अपराधी तत्वों ने लोगों को डराने और अपना वर्चस्व जताने के लिए ये घटनाएं कीं।
उन्होंने कहा आजमगढ़ में साइड मांगने पर एक दलित युवक की पिटाई की गई। मामला एससी, एसटी का होते हुए भी पुलिस ने वह सक्रियता विवेचना में नहीं दिखाई जिसकी अपेक्षा थी। इसी जनपद के लालगंज में एक निवर्तमान प्रधानपति की हत्या कर दी गई।
अखिलेश ने कहा, अगर यूपी में अपराध के किस्से अपने देश में ही प्रदेश की बदनामी नहीं कर रहे हैं। यूपी के अपराध के किस्से विदेशों में भी कहे जा रहे हैं। एक है यूपी जहां अपराध का बोलबाला है और सरकार खामोशी से सब देखती है। उन्होंने कहा अपराधों को संरक्षण देने की वजह से किसी काण्ड की विवेचना और पुलिस कार्यवाही में ढील दे दी जाती है। उन्होंने कहा, जनता अब भाजपा से मुक्ति और समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर ही अपनी सुरक्षा के बारे में निश्चिंत हो सकती है।