अखिलेश यादव का भाजपा पर हमला, बोले- फर्जी एनकाउंटर वाली सरकार ने रंग और नाम बदलने के अलावा कुछ नहीं किया

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने भाजपा कोझूठ बोलने और समाज में नफरत फैलाने वाली पार्टी है बताया है। उन्होने कहा है कि भाजपा ने रंग बदलने और नाम बदलने के अलावा कोई काम नहीं किया है। कानून व्यवस्था पर भाजपा को घेरते हुए उन्होंने कहा है कि भाजपा कार्यकाल में उत्तर प्रदेश अपराध, भ्रष्टाचार, साम्प्रदायिकताका बोलबाला है। नाबालिग बच्चियों और महिलाओं से बलात्कार, हत्या, फर्जी एनकाउण्टर आदि में नम्बर एक पर है।
पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, गन्ने का बकाया भुगतान नहीं हुआ। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के पास अच्छा मौका है जब 26 जनवरी को वह किसान विरोधी तीनों बिल वापस ले ले और किसानों की मांगे मान ले। समाजवादी कार्यकर्ता किसान आंदोलन के साथ हैं, भाजपा का खेती से कोई रिश्ता नहीं, वे बाजार से रिश्ता रखते हैं।
खिलेश यादव ने कहा कि आज देश में स्वस्थ राजनीति की जरूरत है। अखिलेश ने कहा कि शिक्षा में राजनीतिक हस्तक्षेप उचित नहीं है। विश्वविद्यालयों का राजनीतिकरण हो रहा है। एक विशेष विचारधारा के संगठन को बढ़ावा दिया जा रहा है। युवाओं पर एनएसए तक लगाया जा रहा है। पढ़ाई रोज-ब-रोज मंहगी होती जा रही है। गुणवत्ता परक शिक्षा कहां मिल रही है? बिना तैयारी के आनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी गई। गरीब बच्चे पढ़ नहीं पा रहे है।
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के स्वदेशी आंदोलन का क्या हुआ? उसने तो सब कुछ विदेशी हाथों में दे दिया है। देश में तिलहन, दलहन को प्रोत्साहन देने की जगह विदेशों से पॉम आयल का आयात किया जा रहा है जबकि सरसों का समर्थन मूल्य किसानों को नहीं मिलता है। विदेशी लूट जारी है। भाजपा की सरकार की देन है!