अखिलेश यादव ने खास अंदाज में पूछा- क्या भाई अमरूद ‘इलाहाबादी’ ही है या ‘प्रयागराजी’ हो गया…

उत्तर प्रदेश में जब से भाजपा सरकार आई है तभी से समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव उस पर खासे मेहरबान हैं। सरकार को घेरने में उन्होंने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा को लेकर अखिलेश अक्सर योगी सरकार पर हमला बोलते रहते हैं। एक बार फिर उन्होंने योगी सरकार के जिलों के नाम बदलने को लेकर बड़ा तंज किया है। इस बार उन्होंने ट्वीट के जरिए तंज किया है।
अखिलेश द्वारा किए ट्वीट में वह ठेले पर अमरूद खरीदते दिख रहे हैं। ट्वीट में वह ठेले वाले खास अंदाज में पूछ रहे हैं जिसे उन्होंने लिखा है। क्या भाई प्रसिद्ध अमरूद का इलाहाबादी ही है या इसे भी बदलकर ‘प्रयागराजी अमरूद’ हो गया है।
दरअसल सपा प्रमुख इन दिनों यूपी भ्रमण पर हैं। बीते दिनों आजमगढ़ दौरे पर थे। उस दौरान वह पूर्वांचल की 117 सीटों को साधने के मकसद से आजमगढ़ में नया ठिकाना बनाने के निर्देश दिए थे। शुक्रवार को नए ठिकाने के लिए सपा के नाम से 4 हजार वर्ग मीटर से ज्यादा जमीन की रजिस्ट्री कराई गई।
शुक्रवार को वह बरेली और रामपुर के दौरे पर थे। रामपुर में अखिलेश यादव आजम खान की पत्नी तंजीन फातिमा से मुलाकात की थी। सियासी हलकों में ऐसी खबर है कि आजम खान सपा से नाराज चल रहे हैं। वह किसी दूसरे विकल्प की तरफ देख रहे हैं। ऐसा कयास लगाया जा रहा है कि अखिलेश यादव आजम खान की नाराजगी दूर करने के लिए रामपुर में उनकी पत्नी से मुलाकात की थी। उनका मकसद आजम खान को संदेश देना था कि सपा उनके साथ हमेशा खड़ी है और खड़ी रहेगी।
रामपुर में पत्रकारों से मुलाकात के दौरान उन्होंने भाजपा पर निशाना साधा- उन्होंने कहा भाजपा के लोग विकास को विनाश समझते हैं। उन्होने कहा भाजपा वालो को कोई भी सुंदर चीज भाती नहीं है। उन्हें अगर कोई चीज सुंदर दिख जाती है तो उसे तोड़ डालते हैं। उन्होंने जिंदगी भर ठोंकना मारना सीखा है उनसे पढ़ाई की उम्मीद नहीं की जा सकती है।
उन्होंने कहा भाजपा वाले सपा नेताओं को जानबूझकर झूठे मुकदमों में फंसा रही है। उन्होंने कहा जनता को जब भी मौका मिलेगा इन्हें सत्ता उखाड़ फेंकेगी। उन्होंने कहा कि आजम खान साहब हमारी पार्टी के नेता है इसलिए हम उनके साथ हैं।