अखिलेश ने कहा, जिस नफरत के कारण महात्मा गांधी की हत्या की गई वो नफरत आज भी जिंदा है

अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा केवल एक ही एजेंडे पर काम कर रही है और वह है लोगों के बीच नफरत फैलाना। नफरत की राजनीति कर वह सत्ता में बनी रहना चाहती है। उन्होंने कहा अब जनता भाजपा के नफरती चरित्र को समझ चुकी है, उसे बस एक मौका चाहिए…
समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने एक बार फिर केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार पर बड़ा हमला बोला है। महात्मा गांधी के शहीदी दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, आज ही के दिन (30 जनवरी 1948) को उनकी हत्या कर दी गई। लेकिन जिस नफरत और सांप्रदायिका की भावना को लेकर हत्या हुई वही नफरत और सांप्रदायिकता आज भी जिंदा है। उन्होंने कहा, भाजपा केवल एक ही एजेंडे पर काम कर रही है और वह है लोगों के बीच नफरत फैलाना। नफरत की राजनीति कर वह सत्ता में बनी रहना चाहती है। उन्होंने कहा अब जनता भाजपा के नफरती चरित्र को समझ चुकी है, उसे बस एक मौका चाहिए जिस दिन वह भाजपा को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी।
अखिलेश ने कहा, समाजवादियों को महात्मा गांधी के विचारों को आत्मसात करना होगा, गांव गरीब को साथ लेकर उनके सपनों को साकार करने के लिए एकजुट होना पड़ेगा। अखिलेश यादव ने कहा कि सद्भाव का रास्ता सर्वधर्म समभाव का है। स्वाधीनता आंदोलन और संविधान के मूल्यों तथा आदर्शों पर चलने का हमें संकल्प लेना चाहिए। समाज के सबसे अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए।
भाजपा को निशाने पर लेते हुए अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा राज में गरीबों को, निर्दोष लोगों को सताया जा रहा है। भाजपा सरकार जनहित के मुद्दों पर पूर्णतया संवेदनाशून्य हैं। किसी के दुःख से भाजपा को कोई वास्ता नहीं। भाजपा अन्नदाता को बदनाम कर रही है। अब लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई है। सन 2022 में लोकतंत्र की अग्नि परीक्षा होनी है।
अखिलेश ने कहा ये भाजपा की कैसी देशभक्ति है जिसके राज में किसान और नवजवान रोजगार की तलाश में भटकता रहता है। अपनी आवाज उठाने पर उसे लाठियां मिलती हैं। विभिन्न एजेंसियों के जरिए आवाज उठाने वालों का चरित्र हनन किया जा रहा है। निर्दोषों का फर्जी एनकाउण्टर हो रहा है। जनतांत्रिक प्रदर्शनों को कुचलने का प्रयास करने को भाजपा अपनी बहादुरी समझती है।
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा झूठ, नफरत और अफवाहों की राजनीति करती है। समाजवादी सरकार के समय जो काम हुए उनकी प्रशंसा देश-विदेश तक में हुई। भाजपा राज में एक यूनिट बिजली का उत्पादन नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ता अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में जाए और जनता के बीच रहकर उन्हें समाजवादी सरकार के कामों तथा पार्टी की नीतियों के बारे में बताए।