चौंकिए मत, ये खेल ही ऐसा है, किसी को पता नहीं चलता उसके साथ क्या हो सकता है!

Last Updated : by

4 Views
ये कितना खतरनाक है, इसने कई बच्चों को इसने अपना शिकार बनाया है। इसे शुरु करने का मतलब है कि आप अपनी सुध बुध खो देते हैं। आपको याद ही नहीं रहता कि आप कहां जा रहे हैं कितनी देर से आप ये कर रहे हैं। मै बात कर रहा हूं मोबाइल पर खेले जाने एक टॉस्ट ओरिएंटेड गेम PubG (पबजी) का। इसने कितने ही बच्चों को नुकसान पहुंचाया है अब एक और मामला सामने आया है। PubG खेलते-खेलते एक नाबालिग एक राज्य से कब दूसरे राज्य में पहुंच गया उसे पता तक नहीं चला।
PubG खेल रहे हो तो ये भी हो सकता है
दरअसल PubG का टॉस्क पूरा करने के लिए एक नाबालिग हिमाचल से महाराष्ट्र पहुंच गया। भला हो पुलिस विभाग का जिसने सक्रियता दिखाते हुए नाबालिग को महाराष्ट्र मे पकड़ लिया और अब उसे वापस लाने के लिए सोलन पुलिस और उसके अभिभावक महाराष्ट्र के लिए रवाना हो चुके हैं। मामला हिमाचल प्रदेश के सोलन का है।
पुलिस की सक्रियता से मिला नाबालिग
जानकारी के अनुसार, सोलन के कुनिहार क्षेत्र का एक नाबालिग बालक घर से अचानक गायब हो गया। परिवारीजनों ने कुनिहार थाना में गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस में जांच शुरु की। पुलिस को नाबालिक लड़के के मोबाइल की लोकेशन औरंगाबाद महाराष्ट्र में मिली। पुलिस ने वहां की पुलिस से संपर्क किया और पुलिस ने चाइल्ड यूनिट की मदद से उसे पकड़ा और चाइल्ड यूनिट ने नाबालिग को अपने पास रोक लिया।
नाबालिग को पता ही नहीं चला कि वह दूसरे राज्य में है
बता दें, 17 फरवरी को कुनियार से एक नाबालिग घर से अचानक गायब हो गया था। इसकी रिपोर्ट कुनियार थाने में दर्ज कराई गई। इसके बाद पुलिस लगातार नाबालिग के मोबाइल को सर्विलांस पर लगा दिया था। लगातार निगरानी ने रंग दिखाया और मोबाइल की लोकेशन का पता चल गया। पुलिस के अनुसार युवक PubG गेम खेलते हुए टॉस्क पूरा करने के चक्कर में घर से निकला था। उसे इस बात की खबर ही नहीं लगी कि वह कई किलोमीटर दूर महाराष्ट्र के औरंगाबाद के मानमाड़ पहुंच गया है।
एसएसपी ने बताया
इस मामले की जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. शिवकुमार शर्मा ने बताय कि नाबालिग के लापता होने की शिकायत 17 फरवरी को दर्ज कराई गई थी। जांच में पता चला कि नाबालिग महाराष्ट्र के मनमाड़ में है। वहां की पुलिस की मदद से किशोर को पकड़ा गया। उन्होने बताया कि नाबालिग को लेने उसके अभिभावक और पुलिस महाराष्ट्र के मनमाड़ पहुंच गए हैं।