UNHRC: पीओके के कार्यकर्ता ने कहा, कश्मीर को विवादित इलाका कैसे कह सकता है पाक

0
39
संयु्क्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद UNHRC में पहले भारत ने पाकिस्तान का मान मर्दन किया, अब कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को UNHRC में गिलकित-बटालिस्तान की अपनी गतिविधियों को लेकर वहीं के एक राजनीतिक कार्यकर्ता से फटकार सुननी पड़ी। दरअसल पाक अधिकृत कश्मीर की हालत पर पूरी दुनियां में पाकिस्तान को दोषी मानता है। इस इलाके के साथ बरते जाने वाले भेदभाव की खबरे अक्सर सामने आती रहती हैं।
गिलगित-बाल्टिस्तान पर जबरदस्ती कब्जा जमाने के चलते और यहां के लोगों की खराब आर्थिक हालत और मानवाधिकार हनन के मुद्दे को उठाते हुए इस इलाके से आने वाले रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाई है।

UNHRC में क्या कहा रिटायर्ज कर्नल वजाहत हसन…
-पाकिस्तान के चलते गिलगित-बाल्टिस्तान का महत्व नहीं जानते लोग
-गिलगित-बाल्टिस्तान इलाके से आते हैं रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन
-पाकिस्तान कहता है कि पूरा जम्मू-कश्मीर विवादित इलाका है
-इस इलाके के लोगों को स्वनिर्णय का अधिकार होना चाहिए
-मैं जरूर पूछना चाहूंगा कि पाकिस्तान कैसे कह सकता है कि यह इलाका विवादित है?
-पाकिस्तान ने गिलगित-बाल्टिस्तान को कश्मीर के नाम के नीचे छिपाकर रखा हुआ है
-इससे लोग गिलगित-बाल्टिस्तान के महत्व के बारे में नहीं जानते हैं
-न ही इसके बाकी जम्मू और कश्मीर से संबंधों के बारे में ही जानते हैं
कौन हैं वजाहत हसन?
पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के गिलगित-बाल्टिस्तान इलाके से आते हैं रिटायर्ड कर्नल वजाहत हसन। वह एक राजनीतिक कार्यकर्ता के तौर पर काम करते हैं। वजाहत हसन गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों के अधिकारों के लिए आवाज उठाते रहे हैं। उन्होंने इसी साल मार्च में पाकिस्तान के जरिए इस इलाके में आतंकरोधी कानून की आड़ में राजनीतिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाए जाने की बात कही थी।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here