खुशखबरी: UGC का निर्देश, विश्वविद्यालय के एडहॉक पर पढ़ाने वाले अध्यापक होंगे स्थाई

0
75
विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में एडहॉक पर पढ़ा रहे अध्यापको के लिए बड़ी खुशखबरी है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) के सचिव प्रो। रजनीश जैन ने स्‍थायी नियुक्ति के लिए देश के सभी केंद्रीय, राज्‍य और डीम्‍ड विश्वविद्यालयों को एक दिशा निर्देश जारी किया था।
रजनीश जैन ने पत्र में निर्देश दिया था कि निश्चित समय सीमा के अंदर सभी रिक्‍त पदों को भरा जाए। इसी संबंध में उन्‍होंने दोबारा सभी यूनिवर्सिटी को निर्देश दिया है। उन्‍होंने विश्वविद्यालयों को सूचित किया है कि दिशा निर्देश में दी गई समय सीमा के अंदर सभी नियुक्तियां की जाएं, ताकि उच्‍च शैक्षणिक संस्‍थानों की गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा पर कोई दुष्‍प्रभाव न पड़े।
अभी कुछ दिन पहले ही यूजीसी ने ने 23 फर्जी यूनिवर्सिटी की सूची जारी की है। इनमें सबसे ज्‍यादा आठ उत्तर प्रदेश में संचालित हो रही हैं। आयोग ने दिशा निर्देश में सूचित किया, ‘विद्यार्थियों और आम लोगों को सूचित किया जाता है कि फिलहाल देश के विभिन्न हिस्सों में 23 यूनिवर्सिटी गैरमान्‍यता प्राप्‍त चल रही हैं। ऐसे में छात्र-छात्राएं एडमिशन लेते वक्‍त ध्‍यान रखें।
इस बारे में यूजीसी सचिव रजनीश जैन ने कहा था कि फिलहाल देश के विभिन्न हिस्सों में यूजीसी अधिनियम का उल्लंघन कर 23 यूनिवर्सिटी स्वघोषित, गैर-मान्यता प्राप्त संस्थान चल रहे हैं। इनमें से आठ विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश में हैं, उसके बाद दिल्ली में (सात) हैं। इसके अलावा केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और पुडुचेरी में एक-एक फर्जी विश्वविद्यालय हैं।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here