मध्य प्रदेश में बाढ़ और भारी बारिश से हाहाकार, मौत का आंकड़ा 32 पार

0
43
पानी में डूबा पशुपति नाथ का मंदिर
देश में कहीं सूखे से आफत है तो कहीं बाढ़ का कहर, आधा भारत इस वक्त बाढ़ और भारी बारिश की चपेट में है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश भर में बाढ़ और बारिश से अबतक 250 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और तकरीबन सैकड़ों की संख्या में लोग लापता हैं जिनका कोई पता नहीं। हालांकि राहत और बचाव कार्य अपने चरम पर है लेकिन प्रकृति के इस भयंकर रूप से सामने यह बहुत थोड़ा है।
इसी प्रकार भारी बारिश ने मध्यप्रदेश की सूरत बिगाड़ कर रख दी है। बाढ़ और भारी बारिश वह से अबतक यहां 32 लोगों की मौत हो गई है। इतना ही नहीं मौसम विभाग ने अभी कुछ दिनों तक भारी बारिश की आशंका जताई है। यहां पर कई प्रमुख नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं, कई इलाकों का संपर्क टूट चुका है। मौसम विभाग ने राज्य के 18 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
मौसम विभाग के अधिकारी आरआर त्रिपाठी के अनुसार शुक्रवार को भी राज्य के 18 जिलों में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा और कहीं-कहीं पर बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। जिन 18 जिलों में अतिभारी से अत्यधिक भारी वर्षा होने की चेतावनी दी गई है, उनमें आगर मालवा, मंदसौर, रतलाम, शाजापुर, देवास, उज्जैन, नीमच, राजगढ़, सीहोर, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, श्योपुरकलां, मुरैना, धार, अलीराजपुर, झाबुआ एवं बड़वानी शामिल हैं।
वर्तमान समय में आधे भारत में बारिश का कहर जारी है। देश के दक्षिणी हिस्से से लेकर पश्चिम तक बाढ़-बारिश का कहर जारी है। केरल, कर्नाटक,महाराष्ट्र, तमिलनाडु और गुजरात में बाढ़ से हाहाकार मचा तो वहीं उत्तराखंड और जम्मू की प्रमुख नदियों के उफान पर आने से लोगों का जीवन संकट मे है। बतादें बाढ़ और बारिश की वजह से अबतक देशभर में 251 लोगों की मौत हो चुकी है।
बाढ़ और बारिश से कहां कितनी मौतें
-केरल में 72 लोगों की मौत, 58 लापता
-कर्नाटक,गुजरात और महाराष्ट्र में 116 लोगों की मौत
-गुजरात मे बाढ़ में फंसे 125 लोगों को निकाला गया
-राहत और बचाव कार्य तेज
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here