भाजपा के सहयोगी दल ने अंडरवर्ल्ड डॉन के भाई को दिया टिकट, जानिए कौन है वह

0
27
ये अजब राजनीति का गजब खेल है। यही तो है राजनीति, कब, किसे, कैसे और कहां मौका मिल जाए कहा नहीं जा सकता है। हां ये अलग बात है कि राजनीति में आने के लिए आप के पास धनबल और बाहुबल का होना बेहद जरुरी है, यह आज के राजनीति की जरुरत है। इलेक्शनवॉच की रिपोर्ट भी यही बताती है कि राजनीतिक दल अब आपकी हैसियत पैसों से आंकते हैं न कि आपकी शोहरत और समाज में आपकी हैसियत क्या है, आप भले ही सामाजिक तौर बेहद महत्वपूर्ण हैं लेकिन राजनीतिक दलों के इससे कोई मतलब नहीं है उन्हें तो बस आपकी ताकत से मतलब है बस, ऐसा ही महाराष्ट्र के चुनाव में देखने को मिल रहा है।
राजनीतिक दलों को धनवान उम्मीदवारों पर भरोसा
दरअसल राजनीतिक दलों का इसके पीछे भी एक तर्क है। उनका कहना है कि अब राजनीति में वही जीतता है जिसके पास अपार धन है, लोग उसी का अनुसरण करते हैं, उसी को मानते हैं। कम पैसे वाले और चरित्रवान को कौन पूछ रहा है, चरित्र को लेकर क्या करेंगे, क्या वह पार्टी फंड में पैसे दे सकता है, क्या वह पार्टी के आंदोलन के लिए लोगों को जुटा सकता है, पार्टी का कहना है कि उनके पास पैसे नहीं हैं कि किसी उम्मीदवार को चुनाव लड़ाने के लिए पैसे नहीं और ऐसे में उम्मीदवारों के चयन में भी इसका ध्यान रखना होता है कि कौन सा उम्मीदवार पैसे वाला है।
अंडरवर्ल्ड सरगना छोटा राजन के भाई को मिला टिकट
ऐसा ही किया एनडीए के सहयोगी दल रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) ने। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में अंडरवर्ल्ड सरगना छोटा राजन के भाई दीपक निखालजे को उलटन सीट से टिकट दिया है। अब दीपक निखालजे भाजपा के निशान कमल के सहारे विधानसभा पहुंचने के लिए सबसे सामने हाथ फैलाएंगे। बतादें छोटा राजन फिलहाल जेल में, उसे प्रत्यर्पण के संधि के तहत भारत लाया गया है। फलटन विधानसभा सातारा जिले में आता है। एनडीए में आरपीआई को छह सीटें दी गई हैं, जिसमें से कुछ चार पर प्रत्याशी घोषित कर दिए गए हैं।
भाजपा-शिवसेना सीटों के बंटवारे पर हुए राजी
गौरतलब है कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव के दौरान अपने सहयोगी छोटे दलों को एक भी सीट नहीं दी थी। उस दौरान उनसे कहा गया था कि विधानसभा में उनका ध्यान रखा जाएगा। अपने उसी वादे को निभाते हुए भाजपा ने आरपीआई को महाराष्ट्र में छह सीटें दी हैं। हालांकि भाजपा ने छोटे प्रादेशिक दलों को 18 सीटे देने की घोषणा की थी लेकिन बाद में महाराष्ट्र विधानसभा की 288 सीटों के बंटवारे को लेकर बीजेपी-शिवसेना के बीच तनातनी शुरु हो गई थी। अब तय हुआ कि बीजेपी 164 और शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।
अब क्या होगा…
बतादें कि चुनाव आयोग की घोषणा के अनुसार हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को परिणाम घोषित किए जाएंगे। अब देखना यह कि आरपीआई का यह दांव चुनाव में कितना फिट बैठता है, लोग छोटा राजन के छोटे भाई को कुबूल करते हैं या नहीं।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here