जम्मू-कश्मीरः टेरर फंडिंग मामले में NIA ने पूर्व MLA राशिद इंजीनियर को किया गिरफ्तार

0
37
जम्मू-कश्मीर के पूर्व विधायक राशिद इंजीनियर को टेरर फंडिंग मामले में NIA ने गिरफ्तार कर लिया है। राशिद इंजीानियर पर जहूर वताली से संबंध रखने का आरोप है। जहूर वताली का संबंध पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से है जो राशिद इंजीनियर को जम्मू-कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए धन मुहैया कराता था।
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA)पूर्व निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल राशिद उर्फ राशिद इंजीनियर को पटियाला कोर्ट के सामने पेश करेगी। NIA की कोशिश रहेगी कि राशिद इंजीनियर की हिरासत की अवधि बढ़े जिससे पूछताछ में आसानी हो सके। इससे पहले NIA ने टेरर फंडिंग के एक मामले में रविवार को राशिद इंजीनियर से दिल्ली में पूछताछ की थी।
राशिद इंजीनियर, NIA के निशाने पर पिछले कुछ सालों से हैं। सितंबर, 2017 में जांच एजेंसी NIA ने पहली बार उन्हें पूछताछ के लिए समन भेजा था। राशिद जम्मू-कश्मीर के लंगेट विधानसभा से विधायक थे। उस वक्त राशिद ने NIA की इस कार्रवाई और जांच को ‘राजनीति’ से प्रेरित बताया था।
प्रवर्तन निदेशालय और NIA दोनों एजेंसियां वताली से जुड़े आरोपों की जांच कर रही हैं। हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय ने गुरुवार को वताली की 1.73 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी कुर्क की है, यह कुर्की मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत की गई है। NIA ने टेरर फंडिंग मामले में बताली की गिरफ्तारी हुई है।
FIR में बताया गया है कि पैसों का इस्तेमाल सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी करवाने, स्कूलों में आगजनी करवाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और भारत के खिलाफ युद्ध को उकसाने में किए जाने के आरोप लगाए गए हैं।
इनके खिलाफ हवाला और अन्य गैरकानूनी तरीकों से पैसे जुटाने और जम्मू-कश्मीर में आतंकी-अलगाववादी गतिविधियों में खर्च करने के आरोप हैं। NIA दर्ज की गई FIR में पाकिस्तान के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना और लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद का नाम भी आरोपी के तौर पर शामिल किया गया है।
हाफिज सईद के अलावा हुर्रियत के सैय्यद अली शाह गिलानी और मीरवाइज उमर फारुक, हिज्बुल मुजाहिदीन और अन्य आतंकी संगठनों को भी आरोपी बनाया गया है।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here