न्याय की आस में दर दर भटक रही पीड़िता नही मिल रहा इंसाफ। बेवा पीड़िता को झांसा देकर आरोपी ने किया शारीरिक शोषण। ई रिक्शा चलाकर बच्चो को पालती है बेवा

 

 

वीडी न्यूज़ ठाकुरगंज

राजधानी लखनऊ सीएम आदित्यनाथ योगी जहां महिला अपराधों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की बात कहकर सूबे की पुलिस को ऐसे मामलों में त्वरित कार्रवाई का आदेश दे रहे है तो वही सूबे की पुलिस है कि उनके फरमानों की धज्जियां उड़ाने में पीछे नही है। वही जब ऐसे मामले प्रदेश की राजधानी से प्रकाश में आये तो ये घटनाये और भी शर्मसार हो जाती है। एक ऐसी ही पीड़िता बीते कई माह से शहर के तमाम अफसरों समेत शासन के लोगो के चक्कर भी लगा रही है लेकिन उसे इंसाफ की जगह बदलते बयान मिल रहे है। ऐसे में बड़ी समस्या उसके सामने है कि न तो आला अफसर उसकी कोई मदद कर रहे है और न ही न्यायालय में उसे कोई पुख्ता जानकारी उसके मामले से संबंधित मिल पा रही है। वही इस मामले में जिम्मेदार पुलिस अफसरो के अलग अलग विरोधाभासी बयान भी उसे जंजाल में फँसाते नजर आ रहे है। पीड़िता का आरोप है कि आरोपी पक्ष के दबाव में ही पुलिस प्रशासन द्वारा टेढ़े मेढ़े खेल करके उसकी आवाज को दबाने की कवायद की जा रही है और वह लाचार है।

 

झांसा देकर एक वर्ष तक किया शोषण

 

ठाकुरगंज इलाके की रहने वाली शबाना (काल्पनिक नाम) के मुताबिक उसके पति का कुछ दिन पहले देहांत हो गया था। इसके बाद से वह ई रिक्शा टैक्सी में चलाकर खुद व अपने दो नाबालिग बच्चो का भरण पोषण कर रही है। इसी बीच उसकी मुलाकात तालकटोरा निवासी आमिर अंसारी पुत्र नफीस से हुई। मुलाकात में पता चला कि आमिर फाइनेंस का काम करता है। चूंकि पीड़िता को ई रिक्शा किराये पर चलवाने के लिए निकलवाना था अतः उसकी बात आमिर अंसारी से लोन के लिए हुई। बकौल पीड़िता इस बाबत आमिर कई बार उनके घर गया। अक्सर किसी न किसी कागज के बहाने उनके घर जाने लगा। इस दौरान आमिर पीड़िता को शादी का झांसा दिया और उसकी परिस्थितियों का फायदा उठाकर एक दिन जबरन उसके साथ जबर्दशती करते हुए शारीरिक संबंध बना लिए। पीड़िता ने बताया कि उसने निकाह का दबाव डाला तो फर्जी निकाह नामा बनवाकर आमिर ने उसे दे दिया। इसके बाद पीड़िता ने रजिस्टर्ड निकाह अथवा कोर्ट मैरिज की बात कही तो आरोपी टालमटोल करने लगा। इसके बाद लगातार एक वर्ष तक आरोपी आमिर पीड़िता का शारीरिक शोषण करता रहा। पीड़िता बार बार आरोपी से लीगल मैरिज की बात कहकर कहती रही कि आरोपी के पिता शादी को मानेंगे नही लेकिन वह टालमटोल करता रहा।

 

शिकायत पर पीड़िता को मिला थप्पड़ और गालियां

 

बकौल पीड़िता जब वह निकाह वाली बात को लेकर आरोपी के घर गयी तो वहां भी उससे बदसलूकी हुई। कथित निकाहनामा जब आरोपी के घरवालों को दिखाया तो वे आग बबूला हो गए। आरोपी आमिर के पिता नफीस ने कथित निकाहनामा फाड़ दिया और पीड़िता को थप्पड़ रसीद करते हुए कहा कि वो लखनऊ में रहते है तो बेटा नवाबी शौख रखेगा ही इसका मतलब नही की हर किसी से शादी कर ले। यही नही पीड़िता का आरोप है कि आरोपी की माँ ने उसे भद्दी भद्दी गालियां दी व उसके गले की चेन को जबरन उतरवा कर रख लिया व दोबारा दिखाई देने पर जान से मारने की धमकी दी। पीड़िता के मुताबिक आरोपी की ठाकुरगंज पुलिस में अच्छी पैठ के चलते उसने ठाकुरगंज पुलिस से न्याय की उम्मीद खो दी। आलम है कि महिलाथाना में उसका मामला तो दर्ज हो गया लेकिन मामले की प्रोग्रेस के बारे में जानकारी पर उसे टरकाया जा रहा है। इस मामले की शिकायत को लेकर पीड़िता एसएसपी लखनऊ व गृहमंत्री समेत तमाम आला अफसरों से मिलकर व पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगा चुकी है। पीड़िता का यह भी आरोप है कि पुलिस द्वारा उसकी तहरीर बदलवाकर मन मुताबिक तहरीर लिखवाई गयी व उसी आधार पर मामला दर्ज किया गया।

 

क्या कहते है जिम्मेदार अफसर

 

इस मामले की जांच पहले जिन विवेचक द्वारा की जा रही थी उनका ट्रांसफर हो गया। फिलहाल इस मामले की जांच महिला दरोगा सुनीता वर्मा द्वारा की जा रही है।

 

शारदा चौधरी प्रभारी महिलाथाना।

 

नही मैं इस मामले की विवेचना नही कर रही। पूर्व की कुछ विवेचनाएं मुझे मिली है शायद इसी वजह से महिला थाना प्रभारी को लगा होगा कि मैं विवेचना कर रही हूँ। आपको बता दूँ की इस मामले में 23 अगस्त को ही आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल किया जा चुका है:- सुनीता वर्मा महिला दारोगा, महिलाथाना

 

मामले में आरोप पत्र दाखिल हुआ था लेकिन कुछ आपत्तियों के चलते पुनः आरोप पत्र पर विवेचना के आदेश हुए जिसके आधार पर मामले की विवेचना की जा रही है।

अभय कुमार मिश्रा क्षेत्राधिकारी हजरतगंज