बीसीसीआई अध्यक्ष की अपीलः भारत-बांग्लादेश का टी-20 मैच दिल्ली की प्रदुषित हवा में न कराया जाए

0
22
बीसीसीआई के नव निर्वाचित अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा है कि भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाला मैच दिल्ली के प्रदुषित वातावरण में न कराया जाए। उन्होंने दिल्ली के वातावरण को मानक से अधिक प्रदुषित बताया है। उन्होने कहा है कि तेजी से बढ़ता वायु प्रदूषण खिलाड़ियों और हजारों की तादाद में स्टेडियम पहुंचने वाले दर्शकों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। बतादें तीन नवंबर को भारत और बांग्लादेश के बीच पहला टी-20 मैच होना है जिसका क्रिकेट प्रशंसक काफी दिनों से इंतजार कर रहे हैं।
दीपावली के बाद से दिल्ली में वायु प्रदूषण तेजी से बढ़ा है। भारत और बांग्लादेश के बीच तीन मैचों की सीरीज का पहला टी-20 मैच तीन नवंबर को दिल्ली में होना है। दिसंबर 2017 में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम ने मास्क पहनकर दिल्ली में मैच खेला था हालांकि कुछ खिलाड़ी फिर भी बीमार हो गए थे। ऐसे में ‘केयर फोर एयर’ की ज्योति पांडे और ‘माई राइट टू ब्रीथ’ संगठन की रवीना राज कोहली ने सौरव गांगुली को लिखे पत्र में कहा है, ‘दिल्ली में भीषण वायु प्रदूषण के कारण हम आपसे अनुरोध करते हैं कि यह मैच दिल्ली के बाहर कराया जाए।
दिल्ली की जहरीली हवा में तीन चार घंटे खेलने से हमारी टीम की सेहत पर खराब असर पड़ सकता है. इसके साथ ही हजारों की तादाद में आने वाले दर्शकों के स्वास्थ्य के लिए भी यह नुकसानदेह होगा। इन दोनों संगठनों ने साथ ही ये भी आग्रह किया है कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मैचों के आयोजन स्‍थल और कार्यक्रम तय करते वक्त उस जगह के एयर क्वालिटी इंडेक्स को भी अनिवार्य रूप से ध्यान रखा जाए ताकि खिलाड़ियों की सेहत के साथ कोई समझौता न हो।
बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गत सोमवार को उम्मीद जताई थी कि इस मैच पर प्रदूषण का असर नहीं पड़ेगा क्योंकि दिल्ली सरकार वायु गुणवत्ता बेहतर करने के लिए हरसंभव उपाय कर रही है।
दिल्ली पहले भी प्रदूषण की वजह से भारत और श्रीलंका के खिलाड़ी मास्क पहनकर मैच खेल रहे थे। लेकिन श्रीलंका के लाहिरू गमगे प्रदुषण की वजह से बीमार हो गए थे। दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर पूरी दिल्ली की तरह धुंधलका छाया था। उस रोज दोपहर में इंडिया गेट के आसपास पीएम 2.5 का स्तर 337 था, जो सामान्य से करीब छह गुना ज्यादा है।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here