सीएम योगी ने कहा विश्वविद्यालय – महाविद्यालयों में अराजक तत्वों पर रखें पैनी नजर

0
522

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में फैली अराजकता को लेकर सख्त तेवर दिखाए हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय के कुलपतियों तथा महाविद्यालयों के प्राचार्यों को लिखे पत्र में कहा है कि वह कैम्पसों तथा छात्रावसों में अराजक तत्वों की गतिविधियों पर विशेष नजर रखें। इसके अलावा उन्होंने भेजे अपने निर्देश में इस बात को भी साफ किया है कि सभी विश्वविद्यालय और महाविद्यालय अपने पाठ्यक्रमों में देशहित तथा राष्ट्रीयता के मूलभूत सिद्धांतों को भी शामिल करें। माना जा रहा है कि योगी का यह पत्र विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों में आतंकी गतिविधियोंस रैगिंग एव हिंसा को देखते हुए उठाया गया है।

छात्रों की समस्या का तय समय पर हो समाधान

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार योगी ने इस लेटर में कहा है, ‘कई बार यूनिवर्सिटी या कॉलेज प्रशासन तथा विद्यार्थियों के बीच समुचित संवाद न होने के कारण विद्यार्थियों की छोटी-छोटी समस्याओं का समुचित समाधान नहीं हो पाता, इस वजह से धरना-प्रदर्शन की स्थिति उत्पन्न होती है।
उन्होंने कहा, ‘इसलिए यह आवश्यक है कि समय-समय पर विश्वविद्यालय या महाविद्यालय प्रशासन द्वारा विद्यार्थियों और छात्र संगठनों के मध्य समुचित संवाद स्थापित किया जाए तथा छात्रों से जुड़े विभिन्न पहलुओं तथा समस्याओं को चिन्हित कर उनका समुचित समाधान समय रहते किया जाए।

छेड़छाड़ की घटनाओं पर हो प्रभावी अंकुश

योगी ने अपने लेटर में लिखा है, ‘यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रतिभाशाली एवं देश के उज्ज्वल भविष्य के कर्णधार छात्रों को अध्ययन में अवांछनीय तत्वों के कारण असुविधा का सामना न करना पड़े। खासतौर से देश के बाहर से आने वाले छात्र-छात्राओं को पर्याप्त सुरक्षा का माहौल मुहैया कराया जाए। योगी ने उल्लेख किया कि छात्र-छात्राओं की सुरक्षा एवं विशेष तौर पर छेड़छाड़ की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए महाविद्यालय प्रशासन के स्तर से कैम्पस में सीसीटीवी कैमरे स्थापित कराए जाएं तथा प्रशासन से समन्वय कर सुरक्षा के समुचित प्रबन्ध किए जाएं।

उन्होंने कुलपतियों तथा प्राचार्यों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए विश्वास व्यक्त किया कि वे अपनी जिम्मेदारी का पूर्ण सदुपयोग करते हुए शिक्षण संस्थाओं में एक उत्कृष्ट एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का शैक्षिक वातावरण सृजित कर राष्ट्र के नव निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

पाठ्यक्रम में हो राष्ट्रीय एकता की बात

मुख्यमंत्री ने कहा कि छात्र-छात्राओं को केंद्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं जैसे-स्टैंड-अप इंडिया, स्टार्ट-अप इंडिया, डिजिटल इंडिया तथा स्वच्छ भारत मिशन इत्यादि से भी अवगत कराया जाए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता के मूलभूत सिद्धान्तों का अनुसरण करने के लिए पाठ्यक्रमों में आवश्यक बिन्दु सम्मिलित किए जाएं।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here