खुशखबरीः प्रदेश के जूनियर बेसिक स्कूलों में B.ED डिग्री धारक भी बन सकेंगे शिक्षक

0
138
उत्तर प्रदेश सरकार ने B.ED डिग्री धारकों के लिए बड़ी घोषणा की है। सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में यूपी बेसिक शिक्षा सेवा नियमावली 1981 में संशोधन को मंजूरी मिल गई। अब प्रदेश के जूनियर बेसिक स्कूलों में B.ED डिग्री धारक भी शिक्षक बन सकेंगे। शिक्षक बनने से पहले इन अध्यापकों को 6 माह का ब्रिज कोर्स करना होगा।
यह भी पढ़ेंः केन्द्रीय विश्वविद्यालयों में 47,223 सीटों की बढ़रोतरी, बीबीयू में बढ़ीं 467…
दरअसल, अभी तक वे डिग्री धारक ही अप्लाई कर सकते थे, जिन्होंने टीईटी क्वालीफाई किया है या फिर उम्मीदवार राष्ट्रीय शिक्षा परिषद से दो वर्षीय डी.एल.एड (बी.टी.सी ) या यूपी टेट पास हो। अब साधारण बीएड डिग्री धारक भी सहायक शिक्षक पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।
सरकार के इस फैसले के बाद 69 हजार शिक्षक भर्ती मामले में क्वालीफाइंग मार्क्स को लेकर याचिका दायर करने वाले शिवेन्द्र ने कहा उन्हें सरकार के इस फैसले से किसी प्रकार का कोई ऐतराज नहीं है। उन्होंने कहा कि हम पर आरोप लगता रहा है कि बीटीसी वाले चुनौती से डरते हैं।
उन्होंने कहा, अगर B.ED डिग्री धारकों को B.T.C के बराबर करने का फैसला लिया है तो इससे हमे कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन अब हमे भी एलटी ग्रेट और टीजीटी के लिए आवेदन का अवसर मिलना चाहिए। जिस तरह बीएड डिग्री धारकों को नियुक्ति के बाद कोर्स करना होगा वैसा कोर्स हमारे लिए भी हो।
यह भी पढ़ेंः सेना और अर्धसैनिक बलों में अंतरः सेना को पेंशन और अन्य…
सरकार के इस फैसले पर आपत्ति न जताने की बात करने वाले शिवेन्द्र ने कहा कि B.T.C क्वालीफाई करने वालों को एलटी ग्रेड और टीजीटी में मौका देने के लिए हम अदालत भी जा सकते हैं।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here