यूपी उपचुनाव 2019 नतीजेः भाजपा 8, सपा 3, कांग्रेस और बसपा का नहीं खुला खाता

0
22
उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजों में जैसी उम्मीद थी लगभग वैसा ही हुआ है। हालांकि भाजपा को एक सीट का नुकसान उठाना पड़ा है और उसे आठ सीटों पर सफलता मिली है जबकि सपा को तीन सीटें मीली हैं। सबसे ज्यादा चौंकाने वाला परिणाम रहा कांग्रेस और बसपा को जनता ने सिरे से नकार दिया और उन्हें किसी भी सीट पर सफलता नहीं मिली। इस बीच भाजपा के लाख प्रयासों के बावजूद रामपुर की जनता ने एक बार आजम खान पर भरोसा जताते हुए उनकी पत्नी तंजीन फातिमा को भारी मतों से जीता दिया।
भाजपा को लगा झटका, सपा ने की वापसी

उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में एक ओर जहां सूबे की सत्ताधारी पार्टी बीजेपी को करारा झटका लगा है, वहीं दूसरी ओर पहली बार उपचुनाव में उतरी बसपा के साथ कांग्रेस को भी करारी शिकस्त मिली है। वह खाता भी नहीं खोल सकी हैं। इस उपचुनाव में समाजवादी पार्टी ने वापसी करते हुए तीन सीटें हासिल कर एक बड़ी बढ़त बनाई है।
कांग्रेस और बसपा का नहीं खुला खाता
21 अक्टूबर को यूपी की लखनऊ कैंट, गोविंदनगर, मानिकपुर, जैदपुर, बलहा, रामपुर, इगलास, गंगोह, जलालपुर, घोसी और प्रतापगढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुए थे। जिसके बाद आज 24 अक्टूबर को हुई मतगणना के बाद सपा ने रामपुर, जैदपुर और जलालपुर की सीट पर अपनी जीत दर्ज की। वहीं काउंटिंग के दौरान एक लंबे वक्त तक बसपा के जलालपुर में आगे रहने और कांग्रेस के गंगोह में आगे रहने के बावजूद अंत में दोनों दलों को हार का सामना करना पड़ा।
यहां पर भाजपा को लगा झटका

इस उपचुनाव में एक ओर जहां बाराबंकी की जैदपुर विधानसभा में सपा के गौरव रावत ने बीजेपी के अम्बरीष रावत को हराकर बीजेपी की इस एक सीट पर भी कब्जा जमाया तो जलालपुर में बड़ा उलटफेर करते हुए बसपा की इस परंम्परागत सीट पर भी सपा ने अपना परचम लहराया है।
आखिर कैसे हार गए कांग्रेस प्रत्याशी
सहारनपुर के गंगोह में कांग्रेस प्रत्याशी नोमान मसूद आगे चल रहे थे, लेकिन आखिर में बीजेपी प्रत्याशी चौधरी कीरत सिंह ने जीत दर्ज कर ली। चौधरी कीरत सिंह की जीत पर कांग्रेस ने आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग से निष्पक्ष जांच की मांग कर डाली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने न सिर्फ मीडिया में गंगोह के चुनाव परिणाम पर सवाल खड़ा किया बल्कि चुनाव में पक्षपात का भी आरोप लगाया है।
प्रियंका गांधी ने लगाया गंभीर आरोप

प्रियंका गांधी ने ट्वीट के जरिए अपना आक्रोश जाहिर करते हुए कहा कि, ‘भाजपा इतने अहंकार में है कि गंगोह में हमारे जीतते हुए उम्मीदवार को काउंटिंग सेंटर से बाहर निकालकर उनका मंत्री जनता का निर्णय बदलने के प्रयास में है। डीएम को पांच-पांच बार फोन पर लीड कम करवाने के आदेश आ रहे थे। यह लोकतंत्र का सरासर अपमान है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी इसके खिलाफ सख्ती से लड़ेगी। निर्वाचन आयोग इस मामले की निष्पक्षता से जांच कराए।
भाजपा नहीं भेद पाई आजम का अजेय किला

उत्तर प्रदेश की रामपुर सीट जिसे आजम खान का अजेय किला माना जाता है इस उपचुनाव में भी भाजपा इसे ध्वस्त नहीं कर पाई। यहां पर भाजपा ने अभिनेत्री जयाप्रदा को एक बार प्रचार की कमान सौंपी थी लेकिन उनका स्टारडम कोई काम नहीं आया न उनकी भावुक अपील ही लोगों को पिघला सकी। यहां से आजम खान की पत्नी तंजीन फातिमा ने बीजेपी को हराकर न सिर्फ एक बार फिर रामपुर में सपा का झंडा लहरा दिया है।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here