मायावती ने महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष को पद से हटाया, भाजपा-सपा पर लगाया साजिश का आरोप

0
28
बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती को एक साथ कई बड़े झटके लगे हैं। महाराष्ट्र और हरियाणा में पार्टी को करारी शिकस्त झेलनी पड़ी तो वहीं यूपी की 11 सीटों पर हुए उपचुनाव में पार्टी को एक भी सीट नसीब नहीं हुई। इस स्थिति के लिए मायावती ने भाजपा और सपा पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए साजिश का आरोप लगाया है। उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट कर भाजपा और सपा पर निशाना साधा है। इस बीच महाराष्ट्र में पार्टी की दुर्गति का जिम्मेदार महाराष्ट्र बसपा अध्यक्ष को ठहराते हुए उन्हें पद हटा दिया है।
मायावती ने कहा, हरियाणा की जनता भी बीजेपी सरकार के कुशासन से काफी दुःखी व त्रस्त थी और इनसे मुक्ति चाहती थी। लेकिन कांग्रेस पार्टी ने अपने स्वार्थ के लिए जनता में वोटों के बंटने के भय को खूब प्रचारित किया।
इससे बीएसपी के समर्पित वोटर तो कतई नहीं डिगे लेकिन अन्य वोटर जरूर भ्रमित हो गए। इसका परिणाम यह हुआ कि बीएसपी इस बार हरियाणा विधानसभा आमचुनाव में सीट जीतने में सफल नहीं हो सकी, हालांकि बीएसपी को पिछली बार से ज्यादा वोट मिले हैं।
वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र में भारी हार से नाराज मायावती ने बसपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश साखरे को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। महाराष्ट्र बसपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश साखरे पर कमजोर प्रत्याशी उतारने का आरोप लगा है। मायावती के निर्देश पर प्रदेश प्रभारी अशोक सिद्धार्थ ने ये आदेश जारी किया है।
पत्र के अनुसार चुनाव प्रचार करने की बजाए आपने नागपुर उत्तर से विधानसभा का चुनाव पार्टी की इच्छा के विरुद्ध लड़ा और बुरी तरह पराजित हुए। पत्र में साखरे पर विपक्षी पार्टियों से मिले होने का आरोप लगाया गया है। पत्र में कहा गया है कि उन्होंने जनाधार वाली विधानसभा सीटों पर विपक्षी पार्टियों से मिलकर बसपा से कमजोर प्रत्याशियों को चुनाव में उतारा। इस कारण बीएसपी के आम कार्यकर्ताओं में सुरेश साखरे के प्रति भारी असंतोष चुनाव के समय दिखाई दिया।
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here